Aug 9, 2012

लोकतंत्र का मर्म समझें क्षत्रिय : सत्ता के लिए सिर कटवाने की बात नहीं सिर्फ गिनवाने की बात पर ध्यान दें

एक समय था जब राज्य सत्ता प्राप्ति के लिए सिर काटने पड़ते थे और कटवाने पड़ते थे| बिना बलिदान दिए न तो राज्य मिलता था और ना ही सुरक्षित रहता था|...