Jun 5, 2013

टीवी सीरियल जोधा अकबर के खिलाफ जी.टीवी कार्यालय पर प्रदर्शन

दिल्ली 5 जून जी टीवी पर प्रसारित होने जा रहे एकता कपूर द्वारा निर्मित सीरियल जोधा अकबर के प्रसारण को रोकने के लिए आज श्री राजपूत करणी सेना, राजपुताना संघ, श्री क्षत्रिय वीर ज्योति, क्षत्रिय सेना सहित दर्जनों क्षत्रिय संगठनों के सैकड़ों कार्यकर्ताओं ने करणी सेना के लोकेन्द्र सिंह कालवी, श्याम प्रतापसिंह राठौड़, नारायण दिवराला, विक्रम सिंह दिवराला कुलदीप तोमर व राजपुताना संघ के भंवरसिंह रेटा व अन्य क्षत्रिय संगठनों के विभिन्न नेताओं के नेतृत्व में फिल्म सिटी नोयडा स्थित जी टीवी कार्यालय पर प्रदर्शन कर ज्ञापन दिया।इससे पहले इंडिया ब्रॉडकास्ट फाउंडेशन के दफ्तर में फाउंडेशन के अधिकारीयों के साथ जी टीवी प्रबंधन के टीम के अजय भंवरकर, सुचिता पद्नाभन, पुरुषोतम आदि के साथ क्षत्रिय नेताओं यथा लोकेन्द्र सिंह कालवी, राजेंद्रसिंह नरुका, रतन सिंह भगतपुरा, भंवरसिंह रेटा आदि के साथ एक बैठक हुई। जिसमें क्षत्रिय नेताओं ने जी टीवी प्रबंधन की टीम को विभिन्न ऐतिहासिक पुस्तकों के सन्दर्भ देते हुए बताया कि अकबर के जोधा नाम की कोई बीबी ही नहीं थी तो ये जोधा नाम से कहाँ से आ गया।

साथ ही क्षत्रिय नेताओं ने चैनल को चेतावनी दी कि इतिहास को तोड़ मरोड़कर दिखाने के किसी भी कृत्य को क्षत्रिय समाज कभी बर्दास्त नहीं करेगा। जोधा अकबर फिल्म का राजस्थान में प्रदर्शन न होना इसका उदाहरण है।
इस बैठक में लोकेन्द्र सिंह कालवी द्वारा दी गयी ऐतिहासिक जानकारी को सुन जी टीवी टीम ने इस धारावाहिक में बदलाव करने व क्षत्रिय नेताओं की आपत्ति एकता कपूर की कम्पनी तक पहुँचाने व उनके साथ वार्ता करने का प्रबंध करने का वायदा किया।
इस पुरे घटनाक्रम में जी टीवी व इंडिया ब्रॉडकास्ट फाउंडेशन के अधिकारीयों का व्यवहार संवेदनशील व बहुत ही जिम्मेदाराना रहा जिसकी क्षत्रिय नेताओं ने तारीफ भी की ।

6 comments:

जयपालसिंह गिरासे said...

WE ARE PROUD OF YOU......WE SHOULD BE READY TO PROTECT OUR CULTURE AND PRIDE.....THE DISTORTION OF HISTORY SHOULD BE OPPOSED.

जयपालसिंह गिरासे said...

we should be ready to stop the distortion of history and protect our culture................jay bhavani....!

जयपालसिंह गिरासे said...

KSHATRIYA VEER JYOTI MISSION WILL ARRANGE THE NEXT MANTHAN SHIBIR ONLY ON THE RAJPUT HISTORY......AND THE EMINENT HISTORIANS WILL BE INVITED .....

gajendra singh said...

अच्छी पहल की है

ताऊ रामपुरिया said...

सस्ती लोकप्रियता व धन कमाने के लिये इतिहास को तोड मरोडकर पेश नही करना चाहिये.

रामराम.

Rajput said...

लोग कहानी को दिलचस्प बनाने के लिए इतिहासिक मूल्यों से छेड़-छाड़ करते हैं।