Jan 16, 2012

राजपूती- चोला

समय के साथ -साथ जमाना बदल जाता है,
''खानपान'' और ''रहन-सहन'' पुराना बदल जाता है,
वक़्त की रफ़्तार में शख्स रंग बदल जाता है,
मत बदलो ''राजपूती-चोला'', जीने का ढंग बदल जाता है,,

''राजपूती-चोला'' पहन कर गर्व महसूस होता है,
अपने सर पर वीर पूर्वजों का असर महसूस होता है.
साफा बंधकर जब चलते हैं वीर राजपूत,
उनको अपने बाने पर फकर महसूस होता है,,

ज़माने के साथ बदलना, नहीं कोई गलत बात,
लेकिन उन चीजों को न छोड़ो जो हैं हमारे पूर्वजों की सौगात,,
इस बात पर करना सभी गहन सोच-विचार,
हमारा आचरण,आवरण उचित हो और अच्छा रहे व्यवहार,,

अपने रीति रिवाजों को बिलकुल मत भुलाना,
रूढ़ियाँ हैं तोडनी पर अच्छे विचारों को है अपनाना,,
हमारे ये रीति रिवाज सितारों की तरह हैं दमकते ,
इसीलिए तो राजपूत सबसे अलग है चमकते,

हम ऐरे गैरे नहीं, ''राजपूत'' हैं, इसका रखो ध्यान,
अपने शानदार ''राजपूती-चोले'' का हमेशा करो सम्मान,,

लेखक : मधु -- अमित सिंह राणा.

12 comments:

Jitender S Shekhawat said...

Bahut badhiya.

Lalit Singh said...

super hit poem :)

Anonymous said...

वाह क्या राजपूत चोला यही हमारी इजत +जीत है राणा m सिंह जी बहुत बहुत धन्यवाद रतन जी एक दिन मुझे भी एसा सपना आया जैसे मुझे श्री तनसिंह जी मुझे कहते है यही तो हमारी मर्यादा है किसी बारात में गया था तो मेने धोती कुरता पहन के रखा था
भँवर :लालसिंह भाटी

hhupinder rana said...

बहुत ही अच्छी कविता है ,मधु-- अमित सिंह को हमारी और से शुभ कामनाएँ ..........................
कोन कहता है की बेकार है "राजपूत"सब से दिल दार और दम दार है "राजपूत"
रण भूमि में तेज तलवार है "राजपूत" पता नहीं कितनो की जान है "राजपूत"
तो यारो के यार है "राजपूत"तभी तो दुनिया कहती है ,बाप रे बहुत खतरनाक है "राजपूत"
भूपिंदर राणा

Rupesh singh rajput said...

wah wah......sunne ke baad to dil me umang aur josh bhar jata hai
bahut badhiya hai ratan jee..
aapko bahut bahut dhanyvad..
"Rajputo ka itihas purana
yaad rakha hai sara jamana
karte rahe ham sab hamesha kuch naya
jisase barkarar rahe sada ye tarana"

Anonymous said...

nice, Ab hame jagana hee hoga

Jitendra Pratap Singh said...

nice, I hope we must be wake up,Its time to we collapse.

AMIT KUMAR SINGH said...

शुक्रिया आपका,,जय क्षात्र धर्म ..

AMIT KUMAR SINGH said...

शुक्रिया आपका,,जय क्षात्र धर्म ..

karan said...

wah kya baat h... jai maharana pratap ki.

karan said...

bahut accha laga.

Anonymous said...

Hi there! I know this is kinda off topic but I was wondering if you knew where I could get a captcha plugin for my
comment form? I'm using the same blog platform as yours and I'm having trouble
finding one? Thanks a lot!

Also visit my blog post: livecams