Sep 7, 2008

अरे घास री रोटी ही

महाराणा प्रताप पर कन्हेया लाल सेठिया कि रचना "पाथल और पीथल "
video

4 comments:

रंजन said...

बहुत अच्छी लगी... बचपन में स्कुल में पढी थी.. क्या आप इसे text में उपलब्ध करवा सकतें है?

Udan Tashtari said...

vedio उपलब्ध नहीं है, ऐसा मैसेज आ रहा है.

Shekhawat said...

उड़न तस्तरी जी विडियो कभी कभी गड़बड़ करता है लेकिन अभी तो काम कर रहा है और हाँ इसमे तस्वीर नही है सिर्फ़ आवाज ही है | दुबरा ट्राई करें बहुत ही अच्छी रचना है में आपको इसे टेक्स्ट में भी भेजूंगा |

ACHARYA RAMESH SACHDEVA said...

"अरे घास री रोटी ही"
DEAR
PLEASE SEND ME THE VIDEO OF THIS EVEN IF YOU HAVE TO PURCHASE IT FROM SOMEWHERE. I WILL PAY.
OR SEND ME LINK TO DOWNLOAD IT.
ALSO SEND ME THE TEXT CONTENTS OF THIS.
THANKS.
VERY GOOD COLLECTION.
YES IT IS OUR PAST ON WHICH BASIS WE ARE ENJOYING THE PRESENT.
THANKS A LOT.
I WANT ALL THESE URGNETLY.
RAMESH SACHDEVA

hpsdabwali07@gmail.com